परिजनों की मांगे मानने के बाद सांचौर कांस्टेबल गीता का मामला सुलझा

राजस्थान भारती. सांचौर

मामला सांचौर थाने का है और घटना गुरुवार की यानि धुलण्डी के दिन। सांचौर थाने की महिला कांस्टेबल गीता ने अपने सरकारी निवास पर आत्महत्या की। मौके पर मिले उसके मोबाइल में एक टैक्स्ट मैसेज मिला जो कि उसने अपने भाई को भेजा था। उसके बाद इस मामले में तूल पकड़ लिया।

गीता द्वारा लिखा ये मैसेज बड़ा ही भावुक था। जिसमें वह अपने परिजनों से माफी मांगते हुई लिखती है कि मैं अब और नहीं जी सकती मैं बहुत परेशान हो चुकी हूं। इसी मैसेज में वह कई पुलिस वालों पर परेशान करने के आरोप भी लगाती है। मामला शनिवार तक बहुत ज्यादा बढ़ जाता हैं और गीता के परिजन धरने पर बैठ गए।

इस दौरान पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने एक बार धरनार्थियों से इस मामले को लेकर बातचीत की लेकिन बात नहीं बनी और डेड बॉडी का पोस्टमार्टम नहीं हो पाया आखिरकार करीब 6 घंटे की मशक्कत के बाद गीता के परिजनों और पुलिस व प्रशासन के बीच समझौता हो पाया और परिजनों की मांगे मान ली गई।

इस दौरान वृत्ताधिकारी ओमप्रकाश उज्ज्वल, थानाधिकारी पुष्पेन्द्र वर्मा, हैड कांस्टेबल ओमप्रकाश व कांस्टेबल केलम को एपीओ किया गया।