Rajasthan Bharti
  • ताजा खबर

    मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का निधन, वे 10 बार लगातार…  |   अवैध हथियार के साथ नाचते हुए सोशल मीडिया पर विडियो किया वायरल, गिरफ्तार  |   इस वर्ष बारिश में राजस्थान के इन बांधों में आया इतना पानी, इतने है बांध  |   निःशुल्क दवा योजना में राजस्थान को मिला देश में प्रथम स्थान  |   सांसद पटेल की कृषि राज्य मंत्री से मुलाकात, बोले भाद्राजून एवं सुगालिया जोधा गांव…  |  

    हत्याकांड का राजफाश : इसलिए जैपाराम को बाइक सहित जलाया था, दो गिरफ्तार

    May 19, 2019

    राजस्थान भारती. जालोर

    दो दिन पूर्व भीनमाल क्षेत्र के कावतरा के पास धनजी की ढाणी के पास एक युवक को बाइक ​सहित जलाने के मामले का पुलिस अधीक्षक केशनसिंह शेखावत ने खुलासा किया।

    पुलिस ने अधीक्षक ने बताया कि इस मामले में दो आरोपी अजाराम और भीमाराम को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने पहले उसकी हत्या कर बाद में सुनसान क्षेत्र में सड़क पर उसे बाइक सहित जला दिया, ताकि सबूत नष्ट हो सके।

    ऐसे पुलिस पहुंची आरोपियों तक

    पुलिस अधीक्षक केशरसिंह ने बताया कि मृतक के भाई ने जानकारी दी कि जैपाराम उसकी पत्नी को मालवाड़ा में किसी भोपा के पास मिलने का कह कर घर से निकला था। पुलिस ने मृतक की पत्नी से पूछताछ की तो पता च​ला कि रात्रि में 10.21 पर उसके पति ने अज्ञात नम्बरों से फोन किया था।

    देखें वीडियो…. पुलिस अधीक्षक ने किया खुलासा

    उस नम्बर को ट्रेस किया तो कुछ लोग इस नम्बर के सम्पर्क में थे। जानकारी जुटाई तो पता चला कि दो व्यक्ति भीमाराज और अजाराम उस नम्बर के सम्पर्क में थे। और ये लोग उस दिन पूरी रात जाग रहे थे। इनके सम्पर्क में उनके परिवार की एक लड़की भी थी जो इन्हीं के परिवार की है।पुलिस ने इन तीनों से गहनता से पूछताछ की गई तो युवती से जानकारी मिली कि मृतक जैपाराम का उसके साथ और अन्य कुछ महिलाओं के साथ सम्पर्क में था। जैपाराम उनसे मिलने आया करता था।

    इसको लेकर इनके परिजनों ने जैपाराम को पकड़ने के लिए रात—रात भर जागकर उसे ट्रैप करने की कोशिश की गई, लेकिन वो उनके हाथ नहीं लगा। इस पर इन्होंने घटना के 7—8 दिन पहले एक योजना बनाई कि उसे कैसे बुलाया जाए। इसके लिए उन्होंने एक युवती को अपने साथ लिया। जैपाराम इस दरम्यान गुजरात था तो उसे फोन कर बुलाया गया। इस पर जैपाराम अपने गांव आया और युवती से मिलने चल गया। योजना के अनुसार अजाराम और भीमाराम घात लगाकर बैठे थे। जैसे ही जैपाराम वहां पहुंचा तो उन्होंने डंडों से उस पर हमला कर दिया। जिससे वह बेहोश हो गया। फिर उसे एक सुनसान रोड ले गए जहां उसे उसकी बाइक सहित जला दिया।

    Leave a Reply