Rajasthan Bharti
  • ताजा खबर

    भीनमाल में आयोजित विप्र फाउण्डेशन के सम्मान समारोह में 425 प्रतिभाओं का हुआ सम्मान  |   एबीवीपी भीनमाल ने नगर कार्याकारिणी की घोषणा  |   सांथू :राजपुरोहित समाज के न्याति नोहरा का भू​मि पूजन सम्पन्न  |   डकैती के आरोप में जमानत पर चल रहा आरोपी अब इस मामले में गिरफ्तार  |   जालोर : गोगाजी मंदिर में बैठक आयोजित, आयोजन को लेकर चर्चा  |  

    एक ऐसा गांव जहा पानी की भी होती है चोरी, लोग ड्रमों पर लगाते है तालें

    June 4, 2018

    राजस्थान भारती. अजमेंर

    गर्मियों के मौसम में पानी की कमी आम बात है। पर पानी के लिए ड्रमों पर तालें लगाना ऐसा कभी कभी देखने को मिलता है। राज्य में ऐसे कई स्थान है। जहा पानी की कमी रहती है। एक ऐसा मामला अजमेंर के वैशाली नगर में पानी की कमी रहतें लोगों ने पानी चोरी न हो जाए इस लिए लोग पानी के ड्रमों पर ताला लगाकर रखते है।

    सिरोही : पुलिस थानों में एक ही जाति के कई पुलिसकर्मी

    हफ्ते में एक बार मिलता है पानी

    गांव में लोगों का कहना है कि हमें रोजाना पानी नहीं मिलता है। इसलिए जो थोड़ा बहुत पानी हमारे पास होता है जो ड्रमों में रखकर ताला लगाते हैं। गर्मियों में ज्यादातर शहरों में तापमान 45 डिग्री या उससे भी ज्यादा रहता है। जिस वजह से सीमित पानी की उपलब्धता स्थानीय लोगों के लिए बहुत बड़ी चिंता का विषय बन गया है। ठीक इसी तरह राजस्थान के ही पारसरामपुरा गांव के लोग भी अपने ड्रमों में ताले लगाकर रखते हैं। पारसरामपुरा गांव के लोगों को हफ्ते में सिर्फ एक बार पीने का पानी हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड से मिलता है। इस वजह से क्षेत्र के लोग दूसरों के घरों से पानी को चोरी कर ले जाते हैं। इस हलए लोग ड्रमों पर ताला लगाकर रखतें है। गांव के स्थानीय नागरिक ने कहा की पानी की बहुत कमी होने की वजह से रात में कई बार पानी की चोरी हो जाता है। इसलिए हमने फैसला लिया कि हम अपने पानी को सुरक्षित रखने के लिए ड्रम पर ताले लगाकर रखेंगे।’ इसी वजह से यहां के लोगों ने अपने पानी के ड्रमों पर निगरानी रखनी शुरू कर दी है और वह इसे सोने से भी ज्यादा कीमती मानते हैं। कभी कभी गांव में पानी को लेकर लड़ाइ झगड़े भी होते रहते है।

    क्लिप बनाकर ब्लैकमेल का मामला : आहोर विधायक राजपुरोहित ने की एसओजी से जांच की तैयारी

    Leave a Reply