Rajasthan Bharti
  • ताजा खबर

    मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का निधन, वे 10 बार लगातार…  |   अवैध हथियार के साथ नाचते हुए सोशल मीडिया पर विडियो किया वायरल, गिरफ्तार  |   इस वर्ष बारिश में राजस्थान के इन बांधों में आया इतना पानी, इतने है बांध  |   निःशुल्क दवा योजना में राजस्थान को मिला देश में प्रथम स्थान  |   सांसद पटेल की कृषि राज्य मंत्री से मुलाकात, बोले भाद्राजून एवं सुगालिया जोधा गांव…  |  

    जालोर : राजनीति में पर्दे के पीछे दो महिलाओं की दस्तक

    May 17, 2019
    Jalore News, Deepshikha Dewal, Viraj Desai

    राजस्थान भारती. जालोर

    हाल ही में विधानसभा व लोकसभा चुनाव हुए, इसमें जिले के विभिन्न दलों के राजनेताओं ने अपनी खूब जी—तोड मेहनत भी की, लेकिन दो चेहरे ऐसे रहे जो पर्दे के पीछे से दस्तक दे गए। जिन्होंने न केवल कडी मेहनत की बल्कि आमजन से ऐसा जुडाव भी कर दिया कि भविष्य में इन चेहरों पर राजनीति के रूप में विचार संभव किया जाए तो भी कोई अचरज भरा नहीं होगा।

    देखें वीडियो…

    हम बात कर रहे हैं विधानसभा चुनाव में प्रचार में जुटी दीपशिखा और लोकसभा में क्षेत्र में प्रचार में जोर लगाने वाली विराज देवासी की। आइए जानते है कौन है ये दो चेहरे और जिले की राजनीति में कितना प्रभावित हो पाएंगे।जालोर की राजनीति में आज हम दो महिलाओं की बात करने जा रहे है।

    वो महिलाएं जो स्वयं तो राजनीति में सक्रिय नहीं है, लेकिन चुनाव के दौरान उन्होंने प्रचार का जिम्मा बखूबी निभाया। हालांकि जिले में कई महिलाएं है जो किसी पार्टी में सक्रिय रहकर राजनीति कर रही है। लेकिन आज हम जिनके बारे में बात कर रहे है वो अभी तक राजनीति में सक्रिय नहीं है।

    हम बात कर रहे है रानीवाडा विधायक नारायणसिंह की पुत्री दीपशिखा देवल और रतन देवासी की पत्नी विराज देसाई की। आपको बता दे कि नारायणसिंह देवल की बेटी दीपशिखा ने विधानसभा चुनाव 2018 में अपने पिता के लिए चुनाव प्रचार की कमान को संभाला था।

    जानकारी के अनुसार दीपशिखा ने इससे पूर्व चुनाव प्रचार नहीं किया था, लेकिन पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में उन्ळोंने अपने पिता के लिए खूब प्रचार किया। ये दीपशिखा के लिए शुभ संकेत कह सकते है कि परिणाम उनके पक्ष में गया और उनके पिता नारायणसिंह देवल रानीवाडा के विधायक बन गए। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी की पत्नी विराज देवासी ने भी चुनाव प्रचार की कमान संभाल रखी थी। उन्ळोंने भी अपने पति के लिए जमकर प्रचार किया था। हालांकि लोकसभा का परिणाम अभी आना शेष है।

    Leave a Reply