Rajasthan Bharti
  • ताजा खबर

    मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का निधन, वे 10 बार लगातार…  |   अवैध हथियार के साथ नाचते हुए सोशल मीडिया पर विडियो किया वायरल, गिरफ्तार  |   इस वर्ष बारिश में राजस्थान के इन बांधों में आया इतना पानी, इतने है बांध  |   निःशुल्क दवा योजना में राजस्थान को मिला देश में प्रथम स्थान  |   सांसद पटेल की कृषि राज्य मंत्री से मुलाकात, बोले भाद्राजून एवं सुगालिया जोधा गांव…  |  

    21 योद्धाओं की वीर गाथा पर बनी है kesari फिल्म, देखें true story

    March 3, 2019
    Akshay Kumar Hindi Movie Kesari
    अक्षय कुमार की नई फिल्म 21 मार्च 2019 को रिलीज होने के लिए तैयार है। निर्माताओं ने केसरी फिल्म की पहली झलक जारी कर दी है। अक्षय कुमार के साथ परिणीति चोपड़ा भी किरदार में हैं। फिल्म का निर्देशन अनुराग सिंह ने किया है।
    यह फिल्म 1897 में सारागढ़ी की उस लड़ाई पर आधारित है जिसमें ब्रिटिश भारतीय सेना के 21 सिख जवानों ने 10 हजार अफगानी सैनिकों से लोहा लिया था। इसे इतिहास की सबसे मुश्किल लड़ाइयों में से एक माना जाता है।

    पूरी फिल्म एक अद्भुत युद्ध पर आधारित है। 12 सितम्बर 1897 को सारागढ़ी नामक स्थान पर यह युद्ध लड़ा गया था. यह स्थान आजकल आधुनिक पाकिस्तान में है. उस दिन का घटनाक्रम कुछ इस प्रकार है. 10000 अफ़ग़ान पश्तूनों ने तत्कालीन भारतीय आर्मी पोस्ट सारागढ़ी पर आक्रमण कर दिया.सारागढ़ी किले पर बनी

    आर्मी पोस्ट पर ब्रिटिश इंडियन आर्मी की 36वीं सिख बटालियन के 21 सिख सिपाही तैनात थे. अफगानों को लगा कि इस छोटी सी पोस्ट को जीतना काफी आसान होगा. पर ऐसा समझना उनकी भारी भूल साबित हुई।

    उन्हें नहीं पता था कि जाबांज सिख किस मिट्टी के बने हुए थे। उन बहादुरों ने भागने के बजाय अपनी आखिरी सांस तक लड़ने का फैसला किया। जब गोलियां खत्म हो गयी तो तलवारों से युद्ध हुआ। ऐसा घमासान युद्ध हुआ कि उसकी मिसालें आज तक दी जाती हैं।

    ये इतिहास का ऐसा महानतम युद्ध है,

    इतिहासकार मानते हैं कि ये इतिहास का ऐसा महानतम युद्ध है, जब योद्धा आमने-सामने की लड़ाई में आखिरी साँस तक अद्भुत वीरता से लड़े। मानव इतिहास में ऐसा कोई दूसरा उदाहरण नहीं है, जब ऐसा भयंकर मुकाबला हुआ हो। इतिहास में सारागढ़ी युद्ध थर्मोपयले के युद्ध के समकक्ष ही माना जाता है।

    अंत में 21 के 21 सिख सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए, लेकिन 600 से अधिक अफगानों को मौत के घाट उतारकर. अफ़ग़ान जीत तो गए लेकिन उनका भारी नुकसान भी हुआ था. इस युद्ध के दो दिन बाद ब्रिटिश आर्मी ने आक्रमण करके पुनः सारागढ़ी पोस्ट पर कब्जा कर लिया.

    उन महान भारतीय सैनिकों को मरणोपरांत British Empire की तरफ से बहादुरी का सर्वोच्च पुरस्कार Indian Order of Merit प्रदान किया गया. यह पुरस्कार आज के परमवीर चक्र के बराबर है।

    Leave a Reply